कम्प्युटर क्या है – What is Computer in Hindi?

0

नमस्कार दोस्तो,

आज में आप को कम्प्युटर क्या है – What is Computer in Hindi ? के बारे में बेसिक जानकारी दूंगा. जिसे पढ़ कर आप computer के बारे में अच्छा ज्ञान अर्जित कर सकते हो. इसलिए  इस लेख को ध्यान से पढ़े.

आज के समय किसी भी कार्य को Easy करने के लिए Computer की आवश्यकता पड़ती है, बिना computer किसी भी कार्य को करना मुश्किल होता है. पीढ़ी दर पीढ़ी सभी कार्य online होने लगे है और आज का जमाना Digital हो रहा है तो अब आप समझ ही सकते हो की आप की लाइफ मे computer की कितनी आवश्यकता है.

इसलिए आप के लिए ये जानना बहुत आवश्यक है की computer क्या होता है और ये केसे कार्य करता है ?

इन सभी Topics के बारे में जानेगे

  • कम्प्युटर क्या है?
  • कम्प्युटर का पूरा नाम क्या है?
  • कम्प्युटर का इतिहास  और आविष्कार ?
  • कम्प्युटर की पीढ़िया ?
  • कम्प्युटर के मुख्य अंग ?
  • कम्प्युटर केसे कार्य करता है ?
  • कम्प्युटर के hardware और software मे अंतर ?
  • कम्प्युटर के RAM और ROM मे अंतर ?
  • कम्प्युटर के इनपुट और आउटपुट device मे अंतर ?
  • कम्प्युटर का उपयोग ?
  • कम्प्युटर के फायदे ?
  • कम्प्युटर के नुकसान ?
  • कम्प्युटर का सार

कम्प्युटर क्या है – What is computer ?

Computer एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हे जो कुछ तय निर्देशों के अनुसार कार्य को संपादित करते है. Computer शब्द लेटिन भाषा से लिया गया है जिसका अर्थ है ” गणना करना “ . Computer इनपुट उपकरणों की मदद से आँकड़ों को स्वीकार करता है उन्हें Process करता है और उन आँकड़ों को Output उपकरणों की मदद से  सूचना के रूप में प्रदान करता है.

Input –> Processing –> Output

Computer जिसे हिन्दी मे संगणक या अभिकलित्र कहा जाता है. इसे सामान्यतया एक ऐसे यंत्र के रूप मे जाना जाता हे जो अत्यंत तीव्र गति से गणनाएँ करने मे सक्षम है.

कम्प्युटर का पूरा नाम क्या है – Full Form of Computer

C – Common

O – Operating

M – Machine

P – Particularly

U – Used in

T – Technology

E – Education and

R – Research

computer-full-form

कम्प्युटर का इतिहास और आविष्कार – History and Invention

कम्प्यूटर का इतिहास आज से 300 वर्ष पुराना है और इसका आविष्कार बड़ी गणितीय गणनाओ को आसानी से करने के लिए किया गया था.

सबसे पहले अबेकस का आविष्कार किया गया था जो दुनिया का प्रथम गणना यंत्र था, जिसके द्वारा सामान्य जोड और घटाव ही किया जा सकता था.

इसके बाद विभिन्न प्रकार के स्वचालित मशीनो आविष्कार किया गया , और इसके बाद चार्ल्स बैबेज का अधिक योगदान होने के कारण आधुनिक Computer अस्तित्व मे आया इसलिए ” चार्ल्स बैबेज ” को आधुनिक Computer का पिता या जनक कहा जाता है

कम्प्युटर की पीढ़िया – Generation of Computer

जेसे जेसे Computer मे विकास होता हे वेसे वेसे  उन्हे अलग अलग पीढ़ियो मे विभाजित कर दिया जाता हे  जिससे उन्हे समझने मे हमे आसानी हो. आज हम सभी पीढ़ियों को आसान भाषा मे समझेंगे.

पीढ़ी – प्रथम पीढ़ी

समय – 1940 – 1956

Technology – Vacuum Tube

विशेषताए – इसमे मशीन भाषा का प्रयोग किया गया  था. इसमे मेमोरी के स्थान पर चुम्बकीय टेप ओर पंचकार्ड का प्रयोग किया जाता था. ओर ये size मे काफी बड़े ओर महंगे होते थे जिनको चलाने के लिए काफी शक्ति की आवश्यकता पड़ती थी.

पीढ़ी – द्वितीय पीढी

समय -1956 – 1963

Technology Transistor

विशेषताए – इसमे Assembly भाषा का प्रयोग किया गया  था. इसमे मेमोरी के स्थान पर चुम्बकीय टेप का प्रयोग किया जाने लगा था. Transistor size मे बहुत छोटे थे, सस्ते थे ओर fast थे इसके कारण Vacuum Tube की जगह इनका  use होने लगा था. ओर इसमे High-Level Language  (FORTON, COBOL) का प्रयोग होने लगा.

पीढ़ी – तृतीय पीढी

समय –  1964 -1971

Technology – IC ( Integrated Circuit)

विशेषताए – इसमे High-Level भाषा का प्रयोग किया जाता था. इसमे मेमोरी के स्थान पर चुम्बकीय Disk का प्रयोग किया जाने लगा था.  IC बहुत सारे transistor से मिल कर बनी होती हे बहुत सारे transistor होने के कारण computer की processing क्षमता काफी हद तक बढ़ गयी.

ओर इस पीढ़ी के बाद से ही  keyboard, Mouse, moniter का use होने लगा था। ओर  इस पीढ़ी मे कम्प्युटरओ की मदद से Multi-programing ओर Multi – processing संभव हो गया।

पीढ़ी – चौथी पीढ़ी

समय –  1971 -1989

Technology – VLSI

विशेषताए – इसमे VLSI (Very Large Scale Integrated) इस Generation मे microprocessor का use किया गया जिससे Computer की काम करने की क्षमता बढ़ी और ये Size मे भी काफी छोटे होते है.

इस Generation मे GUI (Graphical User Interface) तकनीक का उपयोग किया जाने लगा.

इस Generation मे OS (Operating System) जेसे MS-DOS, MS-Windows, Mac का उपयोग किया जाने लगा.

इस Generation के बाद से ही Internet का Use किया जाने लगा.

पीढ़ी – पाँचवीं पीढ़ी

समय –  1989 से अभी तक

Technology –  ULSI (Ultra Large Scale Integrated) इसमे AI (Artificial Intelligence) तकनीक का Use होने लगा |

विशेषताए – ULSI (Ultra Large Scale Integrated) इसमे AI (Artificial Intelligence) तकनीक का Use होने लगा.

इस Generation के बाद से ही Internet, Touch Screen, Voice Controller, Quantum Calculation जेसी Advance तकनीक  का Use किया जाने लगा.

कम्प्युटर के मुख्य अंग – Main components of a computer

Computer अकेला किसी कार्य को नही कर सकता हे इसके बहुत से अंग होते है जो “Hardware” की श्रेणी आते है. जिसके बारे मे हम आगे जानेंगे.

  1. CPU
  2. Monitor
  3. Keyboard
  4. Mouse

1) CPU – CPU ही Computer का मुख्य अंग हे ओर इसका पूरा नाम Central Processing Unit और इसे Computer का दिमाग भी कहा जाता है.  CPU के अंदर ही Mother-board, Micro-processor, RAM, ROM आदि पाये जाते है.

2) Monitor – ये Computer का एक display device है जो information को दर्शाता है और ये Output device  है.

आज कल monitor के रूप मे LED और LCD का use होने लगा है.

3) Keyboard – Keyboard  एक input device हे जो कुंजी (Key) की सहायता से computer को निर्देश व आकडे दिये जाते है.

Keyboard की सहायता से हम किसी भी information को computer में लिखते है.

4) Mouse – Mouse एक input device हे, इसका use निर्देश का चयन करने के लिए किया जाता है.

इसके तीन भाग होते हे.

  1. Left Button
  2. Right Button
  3. Scroll Button

इनका use हम सुविधा के अनुसार करते है.

कम्प्युटर केसे कार्य करता है – How does a computer work

इसको तीन भागों मे बाटा गया है

Input –> Processing –> Output

Computer को जैसे ही हम कोई data (input) देते है तो computer इस data को process करता है और उसके बाद computer हमे output तोर पर Result देता है, तो इसी तरह से computer कार्य करता है.

कम्प्युटर के Hardware और Software ?

Computer के मुख्य दो भागों मे बाटा गया है 

Hardware – Hardware एक  physical device हे जिसे हम स्पर्श ओर देख सकते हे. computer के अंदर Hardware के रूप मे हम Monitor , Mouse, Keyboard आदि का उपयोग करते हे.

Hardware को Physically Repair भी कर सकते है.

Software :-Software को सिर्फ देख सकते हे लेकिन स्पर्श नहीं कर सकते.  computer के अंदर Software के रूप मे हम Operating System ओर अन्य Application का उपयोग करते हे.

जो भी हमे computer screen पर शो होता हे वो किसी ना किसी software के through ही होता हे इसलिए software भी computer बहुत महत्वपूर्ण भाग है.

कम्प्युटर के RAM और ROM मे अंतर – Difference between RAM and ROM of computer

ROM क्या है और केसे कार्य करता है ?

RAM क्या है और केसे कार्य करता है ?

 RAM ROM
Full Form – Random Access Memory Read only memory
RAM मे Data को Read ओर Write कर सकते हे ROM मे only Read ही कर सकते हे
यह अस्थाई Memory हे जबकि यह स्थाई Memory हे
इसके Data को Erase किया जा सकता है जबकि इसके Data को Erase नहीं किया जा सकता हे
RAM एक Volatile Memory हे जबकि ROM Non volatile Memory हे
computer बंद होते ही डाटा Delete हो जाता हे लेकिन इसमे Save रहता हे
ये Size मे छोटे होते हे ये Size  मे बड़े होते हे
ये Static ओर Dynamic प्रकार  के होते हे ये MROM, PROM, EPROM, EEPROM प्रकार के होत हे ।

कम्प्युटर के Input और Output device

Input Device –  जिस Device की Help से कम्प्यूटर को कार्य करने के लिए  निर्देश दिये जाते हे उन्हे Input device कहते हे.

उदाहरण – keyboard, mouse, Scanner आदि

Output Device – जिस Device की Help से कम्प्यूटर द्वारा किये गए कार्य के परिणाम को दर्शाते हे उन्हे Input device कहते हे.

उदाहरण – Monitor, Speaker आदि

Note – Printer एक ऐसा Device हे जो Input ओर Output दोनों का कार्य करता हे

कम्प्युटर का उपयोग – Use of computer

Computer का उपयोग दिनो दिन बढ़ता ही जा रहा है | आज कल कम्प्यूटर का उपयोग सभी क्षेत्रो मे होने लगा हे जेसे :- शिक्षा के क्षेत्र मे, बैंक, Hospital, विज्ञान के क्षेत्र मे, रक्षा क्षेत्र मे.

शिक्षा के क्षेत्र मे –

शिक्षा के क्षेत्र मे computer का बहुत ज्यादा योगदान हे. जेसे जेसे नई Technology का विकास हो रहा हे,वेसे वेसे computer की भूमिका बढ़ती जा रही हे.

computer आने से student को सबसे ज्यादा फायदा हुआ हे उन्हे कुछ भी search करना हो computer की मदद से आसानी से कर सकते हे.

Exam ओर Study दोनों Online होना Computer  के कारण ही संभव हो पाया हे इससे विद्यार्थियों को काफी फायदा हुआ हे.

बैंक के क्षेत्र मे – 

बैंकों मे भी कम्प्यूटर का काफी उपयोग होने लगा हे जब से कम्प्युटर आया हे तब से बैंकों का भी काफी काम आसान हो गया हे.

कम्प्युटर का उपयोग Passbook Entry करने मे, online banking, ग्राहको के लेन देन की रिपोर्ट मे, ATM मशीन मे, चेक भुगतान मे आदि में किया जाता है.

अस्पतालों मे –

अस्पतालों मे कम्प्यूटर होने के कारण Digital X – Ray, CT Scan, Ultrasound, ECG करना बहुत आसान हो गया हे.

इसके कारण ही मरीज़ो की सारी Reports भी अब online आने लगी हे ओर डॉक्टरों के पास भी सारा डाटा संग्रहीत रहता हे जिसका भविष्य मे कभी जरूरत पड़ने पर use किया जा सकता हे.

विज्ञान के क्षेत्र मे –

वैज्ञानिक Research  मे भी इसका बहुत बड़ा योगदान हे. जब वैज्ञानिको को बड़ी गणना करनी हो या वैज्ञानिको कही उलझ जाते हे तो वो कम्प्यूटर की ही सहयता से वे आसानी से अपने अंजाम तक पहुच जाते हे.

रक्षा क्षेत्र मे –

कंप्यूटर होने के कारण रक्षा के क्षेत्र में जैसे रक्षा अनुसंधान, वायुयान नियंत्रण प्रणाली, रडार, रक्षा संचार प्रणाली आदि में आसानी से काम किया जा रहा हे। कंप्यूटर का उपयोग गुप्त जानकारी भेजने के लिए भी किया जाता है.

कम्प्युटर के फायदे – Advantages of computer

Computer के बहुत से फायदे है computer के आने से काफी काम आसान हो गया है इसमें हम जब चाहे कुछ भी चीज Search कर सकते हे, और कुछ भी Data save कर सकते है.

दिनों दिन Computer का use बढ़ता ही जा रहा है आज के Time मानो इंसान computer के बिना अधूरा है.

Computer के आने से काम करने की Speed, Accuracy बढ़ गयी है

कम्प्युटर के कुछ और फायदे निम्न प्रकार है

  • गति  (Speed)
  • परिश्रमी (Diligence)
  • शुद्धता (Accuracy)
  • स्वचालित (Automation)
  • भंडारण क्षमता (Storage Capacity)
  • संप्रेषण (Communication)
  • सुरक्षा (Security)

कम्प्युटर के नुकसान – Disadvantages of computer

Computer एक मशीन हे इसे Use करने से कुछ फायदे और कुछ नुकसान भी होते है.

      1. Computer को ज्यादा Use करने से Human Eyes पर Effect पडता हे.
      2. Computer में आज के time की सबसे बड़ी समस्या Virus ओर Hacking है virus से file currupt ओर data loss जेसी समस्याओं का सामना करना पडता है.
      3. हैकिंग का सामना जब करना पडता जब आप Internet use कर रहे हो या आपके पास कोई कीमती data या Bank Balance हो  या ओर भी बहुत से Region हो सकते हे.

Hacking के जरिये Hacker data चुरा लेता हे ओर User को पता भी नही चलने देता है.

Hacking करना या करवाना क़ानूनी अपराध हे
Hacking से बचे ओर बचाये

कम्प्युटर का सार

इस Article में मेने आज आप को Computer क्या है ? और इससे related बहुत सारी जानकारी बताई है.

इस Article को मेने आप को simple भाषा में समझाने की कोशिश की है मुझे उम्मीद की आप को ये लेख समझ में आया होगा और कही ना कही useful रहेगा.

अगर आपका कोई इस लेख से सम्बन्धित Doubt हो तो आप comment करके हमे ज़रूर बताये. और इस लेख से सम्बन्धित आप के कोई विचार हो तो हमे ज़रूर बताये जिससे इस लेख में कुछ  ओर सुधार हो सके.

आप लोगो से एक गुजारिश हे इस लेख को आप आपने मित्र ओर रिश्तेदार के साथ जरूर Share करे ताकि उनको भी इस लेख से फायदा मिले और हमें आपके Support की आवश्यकता हे.

Read Also :

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here